सुर्ख़ियां


जन्म दिन विशेष : नित ‘नूतन’ कही जाने वाली प्रतिभा

 

हिन्दी सिनेमा जगत की लोकप्रिय अभिनेत्री नूतन का आज जन्म दिन है. वे 4 जून, 1936 को मुंबई में पैदा हुई थीं. उनके पिता कुमारसेन सामर्थ एक फिल्म विख्यात निर्देशक और कवि थे और मां शोभना सामर्थ भी फिल्म अभिनेत्री थीं. नूतन की बहन तनूजा भी जानी-मानी अभिनेत्री थीं. इस तरह कला और अभिनय का माहौल उन्हें विरासत में मिला था.

नूतन ने अपनी आरंभिक पढ़ाई एस टी जॉसेफ स्कूल पंचागनी, मुंबई से पूरी की थी. इसके बाद वे आगे की पढ़ाई के लिए वि‍देश चली गईं थी. नूतन की मां चाहती थी कि वे अभिनेत्री बनें, फिर उन्होंने स्वयं नूतन को ‘हमारी बेटी’ फिल्म से लॉन्च किया.

हमारी बेटी फिल्म से नूतन के शानदार करियर की शुरूआत हुई. साल 1955 में फिल्म ‘सीमा’ से भी उनकी पहचान बढ़ी.

नूतन के अभिनय की रोशनी चार दशकों तक हिन्दी सिनेमा के नक्षत्र पर छायी रही. ‘बंदिनी’, ‘सुजाता’, ‘सीमा’, ‘तेरे घर के सामने’, ‘मिलन’, ‘मैं तुलसी तेरे आंगन की’ जैसे कई सुपरहिट फिल्में नूतन ने दीं. हर एक फिल्म से नूतन ने लोगों के दिलों जगह बना ली थी.

इतनी बडी अदाकारा होने बावजूद उनकी सादगी की मिसाल दी जाती थी. राज कपूर, दिलीप कुमार, सुनील दत्त जैसे कई बड़े स्टार्स के साथ फिल्मों में काम किया, लेकिन फिर भी उन फिल्मों में अपनी अलग ही छाप छोड़ी.

साल 1959 में नेवी के लेफ्टिनेंट कमांडर रजनीश बहल से शादी कर ली थी. जिसके बाद उनके बेटे मोहनीश बहल का जन्म हुआ.मोहनीश भी बॉलीवुड का जाना-पहचाना चेहरा हैं. नूतन को सर्वश्रेष्ठ अभिनय के लिए कई बार फिल्मफेयर पुरस्कार से नवाजा गया है. इसके साथ ही 1974 में पद्मश्री से भी नवाजा गया.साल 1991 में नूतन को कैंसर हुआ. जिसके चलते वे 54 साल की उम्र में दुनिया को अलविदा कह गईं.